हनुमान चालीसा के एक चौपाई का भावार्थ

Question

पूज्य स्वामीश्रीः के श्री चरणों मे सादर प्रणाम।

हनुमान चालीसा के एक चौपाई का अर्थ समझ नहीं आया
अन्त काल रघुबर पुर जाई, जहां जन्म हरि भक्त कहाई|| तो क्या अगर कोई प्रभु के धाम चला जाए फिर भी क्या उन्हे मोक्ष प्राप्त नहीं होगा और फिर जन्म लेना होगा?

क्या मोक्ष प्राप्ति के बाद भी संसार में जन्म लेना होता है ?

कृपा मार्गदर्शन करें|
श्री चरणों मे सादर प्रणाम।
 

0

Leave an answer

Browse
Browse